High school वाला प्यार || लड़की का प्यार || School life true love Story in Hindi

High school वाला प्यार || लड़की का प्यार || School life true love Story in Hindi

दोस्तों  आपने तो सुना ही होगा की प्यार किया नहीं जाता हो जाता है और हमारी आज की यह कहानी भी एक ऐसी ही लड़की की है जो की अपने स्कूल के लड़के से प्यार करने लगती है (Ladki ka pyaar love story in Hindi) अब वो अपने मन की बात उस लड़के को बता पति है या नहीं (suspense love story in Hindi) अगर बता पाती है तो कैसे बताती है या उनकी कहानी कोई  और मोड़ ले लेती  है (Real life love story in Hindi) ये सब तो हम इस कहानी को पड़ कर ही पता लगा पाएंगे तो बिना  देरी किये शुरू करतें है आज की यह कहानी  

 

लड़की का प्यार

बात उस समय की है जब परी नाम की लड़की 10विं कक्षा में थी, उसी वर्ष उसके स्कूल में एक लड़के का दाखिला होता है जिसका नाम अमन था।  देखने में भोला लगता था वो लड़का वैसे तो उसी की कक्षा में था लेकिन वो दुसरे सेक्शन में था।  पहले तो उस लड़की के मन में ऐसा कुछ नहीं था की वो उससे प्यार करेगी या नहीं वो उसके लिए बाकि लड़कों की तरह ही था, ऐसे ही कुछ महीने बीत गए जब लेकिन अभी उसके प्यार का सिलसिला शुरू नहीं हुआ था। 

बात सर्दियों की है जब लंच ब्रेक में वो लड़की और बाकि क्लास के लड़के और लड़कियां लंच करने के लिए अपने स्कूल के ग्राउंड में बैठते थे, अमन भी अपने दोस्तों के साथ बैठता था।  पता नहीं क्यों परी हमेसा अमन को देखती रहती थी लेकिन अमन उसकी तरफ बिल्कूल भी नहीं देखता था लेकिन अमन की क्लास के बकि लड़के परी को घूरते रहते थे परी की एक दोस्त थी , अदिति जो की अमन के एक दोस्त से बहुत प्यार करती थी और अमन का दोस्त भी अदिति से बहुत प्यार करता था लेकिन उन्होंने अभी एक दुसरे को नहीं बताया था इसलिए वो दोनों भी एक दूसरो को देखा करते थे  

 

ये सिलसिला बहुत दिनों तक ऐसे ही चलता रहा परी को ये बात पता थी,की अदिति अमन के दोस्त से प्यार करती है एक बार की बात है परी के एक टीचर ने सभी बच्चों को फाइल बनाने के लिए दी तो अदीति ने ये अजमाने के लिए की अमन का दोस्त उससे प्यार करता है या नहीं उसने अमन के दोस्त से कहा की क्या आप मेरी फाइल बना डोज उसने कहा है क्यों नहीं कल मैं आपकी फाइल कम्पलीट करके ले आऊंगा अदिति  ने कहा ठीक है अदिति मन ही मन बहुत खुश हो रही थी और खुश होती भी क्यों न उसे अपने प्यार का एक इशारा जो मिल गया था अब परी ने भी अमन से अपनी फाइल बनाए के लिए कहा लेकिन अमन ने  मना  कर दिया परी दुःख तो नहीं थी लेकिन खुश भी नहीं थी 

 

दुसरे दिन जब अमन का दोस्त अदिति की फाइल पूरी करके ले आया तो अदिति ने परी को अपनी फाइल अमन के दोस्त से लेन के लिए भेजा परी जब अमन के दोस्त के पास अदिति की फाइल लेने गयियो तब उसने अमन के दोस्त से कहा की तुम्हे पता है अदिति तुमसे love करती है तो अमन के दोस्त ने कहा मई भी उससे बहुत प्यार करता हूँ  इसके बाद अदिति और अमन के दोस्त राहुल की दोस्ती हो गयी अब वो आपस में बातें करने लगे थे लेकिन लेकिन लेकिन अभी भी एक love स्टोरी अधूरी है वो है अमन और परी की कहानी 

 

अब अदिति और राहुल की दोस्ती तो हो चुकी थी लेकिन परी और अमन की दोस्ती होना अभी भी बाकि था एक दिन की बात है जब परी अपनी दोस्त अदिति के साथ ग्राउंड में बैठे थे तो अदिति ने परी से कहा की मैं तुझे बहुत दिनों से देख रही हु की तू अमन को देखती रहती है मुझे लगता है की तू अमन से प्यार करती है परी ने कहा हा मुझे भी लगता है की मैं अमन से प्यार करने लगी हूँ जब भी मैं उसे देखता हु एक अजीब सी फीलिंग आती है जिस दिन वो स्कूल नहीं आत तो मुझे भी अच्छा नहीं लगता तो अदिति ने कहा की तू उसे बताती क्यों नहीं परी ने कहा की मुझे नहीं पता की वो मुझसे प्यार करता है परी को ये बात नहीं पता थी की अमन भी परी को चुपके चुपके से देखता है अमन को भी परी को देखने के बाद अलग ही फीलिंग आती थी और अमन को ये बात पता थी की परी उसे चुपके चुपके देखती है अमन ने ये बात अपने दोस्त वमन को भी बताई की परी हमारी तरफ देखती रहती है 

 

अब कुछ दिन बीत चुके थे अमन और परी एक दुसरे को चुपके देखा करते थे लेकिन अभी उन्होंने एक दुसरो को नहीं बताया था ऐसे ही लग भाग दो महीने बीत गए  बस वो एक दुसरे से बात किया करते थे और एक दूसरे को देखा करते थे लेकिन किसी ने भी अपने प्यार का इज़हार नहीं किया था

 

समय बीता गया अब उनके स्कूल की fair well पार्टी भी आ गयी थी दोनों स्कूल आये ये सोअच कर की आज उनके स्कूल का आखिरी दिन है आज तो अपने प्यार का इज़हार कर ही देंगे  स्कूल में पार्टी हो चुकी थी लेकिन अभी तक उन्होंने एक दुसरे को कुच्छ नहीं बताया सब बच्चे एक ही क्लास में बैठे हुए थे तभी आकाश ने अपने टीचर से टिल जाने के लिए पूंछा बहार जाते समय उसने परी को आने के लिए इशारा किया परी समझ गयी की वो उसे बुला रहा है उसने अदिति से कहा की आकाश मुझे बुला रहा है तो अदिति ने कहा की तो चली जा वो तुझे prapose करेगा परी ने कहा मई अकेली नहीं जा रही तू भी चल अदिति ने कहा मैं नहीं आ सकती तू अकेली ही जा फिर परी नहीं गयी अमन सीड़ियों पर खड़ा परी का वेट कर रहा था तभी क्लास में एक टीचर आये उन्होंने परी से कहा की तुम्हारे पाप आये है फिर परी ऑफिस में चली गयी अपने पाप के पास उसके पापा उसे अपने साथ ले जाने वाले थे लेकिन परी ने कुछ बहाना लगा दिया और कहा की मैं स्कूल की छूती होने के बाद अजाऊँगी उसके पापा ने कहा ठीक है फिर परी वापिस अपनी क्लास में आ गयी 

 

अब जब स्कूल की छुट्टी हुयी तो अमन उस रस्ते पर जाकर खड़ा हो गया जहाँ से परी अपने घर जाया करती थी जब परी वहां से निकली तो अमन ने जमीन पर अपना नंबर फैक कर छोड़ दिया फिर वो वहां से चला गया फिर उस पर्ची को जिसपर अमन ने अपना नंबर लिखा था फिर वो भी अपने घर चली गयी लेकिन उसने घर जाकर अमन को कॉल नहीं किया क्योंकि उसके पास कोई फ़ोन नहीं था एक दिन परी ने अपनी चाची का फ़ोन रखा देखा तो उसने अमन  को कॉल लगाया अमन ने कॉल उठाया और पूंछा कोन आवाज आई परी यह सुनकर उसने कहा आपको आब आई मेरी याद परी ने कहा की मुझे कॉल करने के लिए फ़ोन नहीं मिल रहा था इसलिए अमन ने कहा की अभी तो मैं tution जा रहा हूँ बाद में बात करता हूँ फिर परी ने कहा की अब वापिस इस नंबर पर कॉल मत करना क्योंकि ये मेरी चाची का फ़ोन है लेकिन अमन ने उसकी बात नहीं मानी और tution से वापिस आने के बाद उसने कॉल लगा दिया फिर परी की चाची ने कॉल उठाया  फिर अमन ने फ़ोन काट दिया जब परी के 10वीं  क्लास के बोर्ड के पेपर थे तभी उसके पापा ने घर के एक फ़ोन में reacharge करवा दिया था तो परी को अब मौका मिल गया था अमन से बात करने का फिर परी ने अमन को कॉल लगाया लगभग शाम  के 8 बजे और उसने अमन से सुबह के 4 बजे तक बात की और खास बात ये है की उस दिन उसका मैथ्स का एग्जाम था 

 

अभी भी उन दोनों की कहानी जारी  है या ख़तम हो गयी ये तो हमें नहीं पता लेकिन जैसे ही हमें आगे की कहानी की सुचना मिलेगी हम आप तक जरूर पहुंचाएंगे तब तक के लिए बाये आपका परिवार खुश रहे आपके दोस्तों को आपसे कोई तकलीफ न हो यही हम भगवन से दुआ करते है 

 

अगर आप भी अपनी प्रेम कहानी या अपने जीवन की कोई ऐसे घटना जो आप तेचोएदु के जरिये लोगो के साथ शेयर करना चाहते है तो अपनी कहानी को आप हमें techoeduftd@gmail.com पर ईमेल कर सकते है.

 

आपको यह कहानी कैसी लगी हमें comment box में comment करके जरूर बताये 

One comment

Leave a Reply