Apne phone ko virus se kaise bachaye || अपने फोन को वायरस, हैकर्स और मैलवेयर से बचाने के 10 तरीके

 10 ways to protect our phone from virus, hackers & malware || How to protect our phone f4rom antivirus

जैसा की फ्रेंड्स आप सब लोग देख पा रहे हो की आज हम एकऐसी दुनिया में जी रहे हे जहा पर नेट (इनटरनेट) के बिना जीने की कल्पना भी नहीं कर सकते है क्युकी आज लगभग 75% काम हमारे ऑनलाइन  ही होते  है जो की बहुत ही अच्छी बात हे क्युकी इससे हमें आसानी होती है और जिस किसी को भी पेसो की जरूरत होती है उसे समय से पहले पैसे दे देते है और इसके आलावा ऑनलाइन शॉपिंग में भी बहुत फायदे मंद है लेकिन इन सभी सुविदा के होते हुए हमें एक चीज की फ़िक्र बनी रहती है जो की ऑनलाइन फ़्रोडिंग , वायरस या फिर हैकर होते हे वो हमारी पर्सनल जानकारी निकाल लेते है और हमारे फ़ोन को हैक कर लेते है या फिर वायरस भेज देते है जिससे हमारी पर्सनल इनफार्मेशन हैकर के पास पहुंच जाती है और वो या तो हमसे पैसे ले लेता है या फिर हमें ब्लैक मेल (टॉर्चर ) करना सुरु कर देता है | 

इन सब चीजों से बचने के लिए दोस्तों आज  हम आपको 10 तरीके बताएँगे की आप कैसे आप अपने फ़ोन को ऑनलाइन हैकर, वायरस  या मलवेयर से बचा सकते हो |  

1. स्क्रीनलॉक या पासवर्ड, पिन , फिंगरलॉक का स्तेमाल करना 

अपने फ़ोन के  लिए हमेशा एक स्क्रीन लॉक रखे जिससे आपके फ़ोन को कोई भी  लेगा तभी उसे  स्क्रीन लॉक डालना पड़ेगा और आप अपने फ़ोन को हैक होने से बचा लोगे | इस प्रक्रिया का स्तेमाल करके आपको और आपके फ़ोन को बहुत सहायता मिलेगी | 
और यदि आप ऐसे व्यक्ति हे जिसे पासवर्ड या पिन याद रखने में दिक्कत होती है तो अपने फ़ोन में पैटर्न लॉक, फिंगरलॉक या फिर फसलोक का प्रयोग कर सकते है | 
स्क्रीनलॉक लगाने के लिए निम्न तरीके प्रयोग कर सकते हो ,
1. go to your setting menu in your phone.
2. and search “security” in the setting search menu.
3. and then in the Screen Security select the screen lock.
4. then select which lock do you want to add.

2. अपने फ़ोन के apps पर लॉक 

फ़ोन की स्क्रीन पर लॉक लगाना ही काफी नहीं है आपको अपने apps पर भी  लगाना जरूरी है और खास करके उन चीजों पर जो की बैंक से जुडी है जैसे  बैंक का आप app यूज़ कर रहे हो उसके ऊपर लॉक, E-wallet, mobile Wallet, Online shopping apps आदि | और आज कल जो फ़ोन आ रहे हे उनमे तो Built-in app locking Functionality केव साथ आ रहे है | 

3. अपने संचार को Encrypting करें

Data Encrypting करना हमारी जानकारी को हैकर्स और छिपकर बातें सुनने वालों से बचा सकता है। जब भी आप सार्वजनिक वाई-फाई या अन्य असुरक्षित नेटवर्क का उपयोग करते हैं तो ऐसा करना एक अच्छा विचार है। अधिकतम सुरक्षा के लिए OpenVPN जैसी विश्वसनीय सेवा का उपयोग करना सुनिश्चित करें।

4. कुकीज़ बंद करें

कुकीज़ आपके कंप्यूटर पर संग्रहीत हैं और आपकी ब्राउज़िंग आदतों को ट्रैक करने के लिए उपयोग की जा सकती हैं। विज्ञापनदाताओं द्वारा आप पर विज्ञापनों को लक्षित करने के लिए उनका उपयोग भी किया जा सकता है। कुकीज के कुछ लाभ होते हैं, जैसे आपको किसी साइट पर लॉग इन रखना। लेकिन अधिकांश लोग नहीं चाहते कि तीसरा पक्ष उन्हें इतनी बारीकी से ट्रैक करे।

5. अपनी सोशल मीडिया गतिविधि की निगरानी करें

यह उन पोस्टों की पहचान करने का एक अच्छा तरीका है जिन्हें आप पोस्ट नहीं करना चाहते थे और सार्वजनिक होने से पहले उन्हें हटा दें। यह आपको यह भी बता सकता है कि क्या आपका खाता हैक किया गया था और बदल दिया गया था या यदि कोई आपको प्रतिरूपित कर रहा है। आप लोगों को अपने बारे में गलत विचार नहीं देना चाहते हैं, या इससे भी बदतर, कुछ ऐसा पोस्ट करके खुद को परेशानी में डाल सकते हैं जो आपको अजीब लगा।

6. डेटा संग्रह सीमित करें

आपका ब्राउज़र लगातार आपके बारे में डेटा एकत्र करता रहता है, जिसमें आप क्या खोजते हैं और आप किसी पृष्ठ पर कहां क्लिक करते हैं। अक्सर, यह आपके कंप्यूटर का IP पता और अन्य व्यक्तिगत जानकारी रिकॉर्ड कर सकता है। ब्राउज़र जो कुछ एकत्र कर रहा है उसे सीमित करने के लिए, “प्राथमिकताएं” के अंतर्गत मेनू पर जाएं। “गोपनीयता और सुरक्षा” चुनें और सुनिश्चित करें कि सभी विकल्प अनियंत्रित हैं।

7. विश्वसनीय स्रोतों से ऐप्स डाउनलोड करें

हमेशा एप्प्स को विश्वास वाली जगह से ही डाउनलोड करना चाहिए जैसे की Google play store और इसके साथ ही उस एप्प की रेटिंग और downloads देखने के बाद डाउनलोड करना चाहिए| 
इस
के साथ ही third party apps से तो लाखो कोस दूर रहना चाहिए | 

8. ऐप डाउनलोड करने से पहले ऐप अनुमतियां पढ़ें

1
जिस एप्प को भी आप डाउनलोड करें [प्राइवेसी पालिसी जरूर पड़ें और टर्म एंड कंडीशन भी पड़े जिससे आपको पता चलेगा की अपने जिस एप्प  डाउनलोड  वो हैकर द्वारा  वायरस तो नहीं है | जैसे की यदि कोई पेमेंट एप्प हे और वो आपसे आपके फ़ोन के कैमरा  allow करने के लिए कह रहा हे तो आपको उसे अल्लोव नहीं करना है क्युकी कैमरा की ऐसे अप्प को कोई जरुरत नहीं होती है | लेकिन 
अब जो एप्प हे उनमे Q.R. कोड स्कैन करने का ऑप्शन आने लगा हे तो उनको आप allow कर सकते हो | 

9. एक एंटीवायरस ऐप डाउनलोड कर के रखे 

अपने में एक अच्छा भरोसे वाला एंटीवायरस यूज़ करें इससे आपके फ़ोन में जब भी वायरस आएगा तो एंटीवायरस उसे नस्ट कर देगा 

10. बेसिक प्राइवेसी टूल्स का इस्तेमाल करें

बुनियादी गोपनीयता टूल में वीपीएन का उपयोग करना, पासवर्ड जनरेटर का उपयोग करना, कभी भी अपने वास्तविक नाम का ऑनलाइन उपयोग नहीं करना और मजबूत पासवर्ड का उपयोग करना शामिल है। 

Leave a Reply